उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल | UP Jansunwai Portal ऑनलाइन शिकायत , शिकायत की स्थिति

UP Jansunwai Portal : उत्तर प्रदेश सरकार अपने नागरिकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रयास करती है। ऐसी ही एक पहल के माध्यम से, उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल शुरू किया गया है ताकि नागरिक अपनी शिकायतों और शिकायतों को ऑनलाइन दर्ज कर सकें और उनका शीघ्र निवारण सुनिश्चित कर सकें। सरकार ने इस उद्देश्य के लिए एक मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर (1076) भी जारी किया है। नागरिक जनसुनवाई के सिटीजन पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं या अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। इस article मे हम पोर्टल के उद्देश्य, लाभ ,शिकायत केसे करें ,शिकायत की स्थिति के बारे मे पूरी जानकारी देंगे

यूपी छात्रवृत्ति

UP Jansunwai Portal: Overview

Table of Contents

पोर्टल का नामउत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल
शुरू किया गयामुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
वर्तमान वर्ष2023
Post categoryUP Govt Scheme
टेलीग्राम से जुड़ेंTelegram Link
संबंधित विभागउत्तर प्रदेश लोक शिकायत विभाग
पंजीकरणऑनलाइन प्रक्रिया
लाभार्थीराज्य के सभी नागरिक
उद्देश्यनागरिको की समस्या का समाधान करना
आधिकारिक वेबसाइटjansunwai.up.nic.in

UP Jansunwai Portal 2023

अगर आप भी उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और अपनी समस्या के समाधान हेतु उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज करना चाहते हैं, तो जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने और पोर्टल से संबंधित सभी जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे अगर किसी को सरकारी विभाग से कोई काम करवाने में दिक्कत हो रही है और कई तरह की बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है तो वह यूपी जनसुनवाई पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है. संबंधित विभाग कम से कम समय में उनकी समस्या का समाधान करेगा और समाधान होने तक वे अपनी शिकायत की स्थिति ऑनलाइन जांच सकते हैं। जनसुनवाई की इस सुविधा को और बढ़ावा देने के लिए सरकार ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 1076 भी शुरू किया है

jansunwai.up.nic.in पोर्टल उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार ने कानून व्यवस्था बनाए रखने और लोगों की विभाग संबंधी शिकायतों को आसानी से दूर करने के लिए यूपी जनसुनवाई पोर्टल लॉन्च किया है। जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से राज्य का उद्देश्य भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना है। सरकार का उद्देश्य इस सुविधा को उत्तर प्रदेश के सभी लोगों तक पहुँचाना है।

जनसुनवाई पोर्टल के लाभ

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को मिलने वाले लाभ की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने नागरिकों की सुविधा के लिए जन सुनवाई पोर्टल लॉन्च किया है।
  • यूपी जन सुनवाई पोर्टल के माध्यम से, नागरिक अपनी सभी सरकारी शिकायतों को एक ही स्थान पर दर्ज कर सकते हैं।
  • पोर्टल नागरिकों को उनकी शिकायतों से संबंधित कई सुविधाएँ प्रदान करता है जैसे शिकायत पंजीकरण, स्थिति अपडेट, शिकायत अनुस्मारक और प्रतिक्रिया प्रस्तुत करना।
  • इस पोर्टल के माध्यम से नागरिक अपने घर बैठे ही आराम से अपनी शिकायत लेकर सरकारी कार्यालयों तक पहुंच सकते हैं और उनकी शिकायतों का समाधान संबंधित विभाग द्वारा निर्धारित समय सीमा के भीतर किया जाएगा।
  • जन सुनवाई पोर्टल नागरिकों को भ्रष्ट अधिकारियों, भू-माफिया और ऐसे अन्य मामलों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने की अनुमति देता है।
  • पोर्टल से राज्य के सरकारी मामलों में पारदर्शिता बढ़ेगी और जनता आसानी से अपनी शिकायतें सरकार तक पहुंचा सकेगी।
  • इस पोर्टल के माध्यम से नागरिकों की शिकायतों का समाधान पारदर्शी तरीके से किया जा सकता है।

किन बातों का ध्यान रखना चाहीये ?

नागरिकों को बता दें उत्तर प्रदेश द्वारा शुरू किए गए जनसुनवाई पोर्टल पर अपनी शिकायतें दर्ज कर सकते हैं, लेकिन कुछ विषय ऐसे भी हैं जिनसे संबंधित शिकायत को इसके दायरे से दूर रखा गया है, इन विषयों से संबंधित शिकायत नागरिक पोर्टल के माध्यम से दर्ज नहीं कर सकते क्योंकि इनपर कोई ही कार्यवाही नहीं की जाएगी ऐसे सभी विषयों की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • सूचना का अधिकार अधिनियम से संबंधित शिकायतें।
  • न्यायालय में लम्बित प्रकरणों एवं संबंधित मामलों से संबंधित शिकायतें।
  • किसी भी वित्तीय सहायता या सरकारी नौकरी के लिए अनुरोध।
  • किसी भी प्रकार के सुझाव।
  • पोर्टल के माध्यम से विभाग के भीतर उपलब्ध सभी विकल्पों के समाप्त होने तक स्थानांतरण सहित सरकारी कर्मचारियों की सेवाओं से संबंधित शिकायतें।

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर स्वीकार न की जाने वाली  शिकायते

  • सूचना का अधिकार से सम्बंधित मामले
  • मा० न्यायालय में विचाराधीन प्रकरण
  • सुझाव
  • आर्थिक सहायता या नौकरी दिए जाने की मांग
  • सरकारी सेवकों के सेवा सम्बन्धी प्रकरण (स्थानांतरण सहित) जब तक कि उन्होंने विभाग में उपलब्ध विकल्पों का उपयोग न कर लिया हो

UP Jansunwai Portal Complaints Types | शिकायतों के प्रकार

उत्तर प्रदेश के नागरिक अभी सिर्फ तीन शिकायते दर्ज करा सकते है जो हमने नीचे दी हुई है इन शिकायतों को ध्यान से पढ़े और अपनी शिकायत जनसुनवाई ऑनलाइन पंजीकरण करा कर दर्ज करवा सकते है |

  • शासकीय योजनाओ के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए
  • जनसाधारण की समस्या से जुडी शिकायत
  • और जनता की मांगो से जुडी शिकायत

यूपी जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत पंजीकरण प्रक्रिया

इस जनसुनवाई  पोर्टल के माध्यम से जो भी व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते  है तो उन्हें नीचे दिए तरीके के अनुसार अपनी शिकायत दर्ज करनी होगी

  • जनसुनवाई ऑनलाइन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर, “शिकायत पंजीकरण” विकल्प पर क्लिक करें।
  • आवश्यक जानकारी दर्ज करें और नियमों और शर्तों से सहमत हों।
  • “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।
  • अपनी ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर दर्ज करें और फिर कैप्चा कोड दर्ज करें।
  • फिर से “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।
  • प्राप्त ओटीपी दर्ज करके अपनी ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर सत्यापित करें।
  • सभी आवश्यक विवरणों के साथ शिकायत पंजीकरण फॉर्म भरें।
  • फिर से “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।
  • शिकायत दर्ज होने के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर लें।

पोर्टल पर ऐसे देखें शिकायत की स्थिति

उत्तर प्रदेश के जिन लोगो ने जनसुनवाई शिकायत पंजीकरण में शिकायत दर्ज करवाई है वह  लोग की गयी ऑनलाइन शिकायत की स्थिति को जानना चाहते है तो वह नीचे दिए तरीके को Follow करे |

  • पंजीकृत शिकायतों को देखने के लिए यूपी जनसुनवाई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर आने के बाद, “शिकायत स्थिति ट्रैक करें” विकल्प पर क्लिक करें।
  • दिखाई देने वाले फॉर्म में अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी भरें.
  • सुरक्षा पिन दर्ज करें और “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।
    अब आप आसानी से अपनी पंजीकृत शिकायत की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

रिमाइंडर देखने की प्रक्रिया

  • यदि आपने ऑनलाइन शिकायत दर्ज की है और निर्दिष्ट समय के भीतर उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है, तो आप नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं।
  • अगर आपकी शिकायत का समाधान नहीं हुआ है तो आप सीधे आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर मुख्यमंत्री को रिमाइंडर भेज सकते हैं।
  • एक बार जब आप आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंच जाते हैं, तो होम पेज दिखाई देगा।
  • फिर, “अनुस्मारक भेजें” विकल्प पर क्लिक करें।
  • फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी भरें, और फिर आप रिमाइंडर भेज सकते हैं

फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

  • जन सुनवाई समाधान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होमपेज आ जाएगा।
  • “फीडबैक दें” लिंक पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपके लिए एक फीडबैक फॉर्म होगा।
  • आपको इस फीडबैक फॉर्म में पूछी गई जानकारी जैसे शिकायत आईडी, पंजीकृत मोबाइल नंबर, पंजीकरण आईडी, संतुष्टि रेटिंग, फीडबैक और कैप्चा कोड भरना होगा।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपका फीडबैक संबंधित विभाग के पास पहुंच जाएगा।

नागरिकों के लिए UP Jansunwai App Download करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको यूपी जनसुनवाई पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको डाउनलोड के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद, आपको नागरिकों के लिए Android एप्लिकेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने Google Play Store आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको इंस्टॉल ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इंस्टॉल ऑप्शन पर क्लिक करेंगे, मोबाइल ऐप डाउनलोड हो जाएगा।

पोर्टल हेतु सुझाव देने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • उसके बाद, आपको “पोर्टल के लिए सुझाव” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जहां आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और सुझाव दर्ज करना होगा।
  • फिर, आपको “सबमिट” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह, आप पोर्टल के लिए सुझाव प्रदान कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश से अन्य राज्य जाने हेतु प्रवासी पंजीकरण

  • जन सुनवाई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर, “प्रवासी पंजीकरण” विकल्प पर क्लिक करें।
  • दिखाई देने वाले फॉर्म में अपना मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कैप्चा कोड भरें.
  • ओटीपी प्राप्त करने के लिए “ओटीपी भेजें” बटन पर क्लिक करें।
  • ओटीपी दर्ज करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • नाम और पता जैसी सभी आवश्यक जानकारी के साथ पंजीकरण फॉर्म भरें।
  • पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।

अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आने हेतु प्रवासी पंजीकरण

  • यूपी जनसुनवाई पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • एक बार होमपेज पर, “प्रवासी पंजीकरण” विकल्प देखें और उस पर क्लिक करें।
  • अगले पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। आवश्यक विवरण जैसे मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कैप्चा कोड भरें।
  • “ओटीपी भेजें” बटन पर क्लिक करें। आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।
  • ओटीपी दर्ज करें और “ओटीपी सत्यापित करें” बटन पर क्लिक करें।
  • अगले पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा। सभी आवश्यक विवरण जैसे नाम, पता, आधार संख्या आदि भरें।
  • सभी विवरण भरने के बाद, “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।

UP Jansunwai Portal Helpline Number

हमने इस लेख में उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आप अपनी समस्या का समाधान पाने के लिए jansunwai-up@gov.in पर ईमेल लिख सकते हैं।

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई से संबंधित प्रश्न/उत्तर

उत्तर प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल क्या है ?

उत्तर प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल राज्य सरकार द्वारा विभिन्न विभागों में सरकार से संबंधित शिकायतों को दर्ज करने और हल करने के लिए नागरिकों के लिए शुरू किया गया एक पोर्टल है।

यूपी जन सुनवाई पोर्टल के क्या लाभ हैं?

यूपी जन सुनवाई पोर्टल के माध्यम से नागरिक अपने घर बैठे आराम से सरकारी विभागों में अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं, जिससे उन्हें विभिन्न कार्यालयों में बार-बार जाने की परेशानी नहीं होती है। इससे सरकारी कामकाज में और पारदर्शिता लाने में भी मदद मिलती है।

क्या सरकार ने जन सुनवाई मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया है?

जी हां, सरकार ने राज्य के आम लोगों के लिए जन सुनवाई मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। वे अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए ऐप का उपयोग कर सकते हैं।

शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई न हो तो क्या करें?

यदि शिकायत दर्ज करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जाती है या इसमें बहुत अधिक समय लग रहा है, तो आप प्रक्रिया में तेजी लाने और अपनी शिकायत पर कार्रवाई करने के लिए संबंधित अधिकारियों को रिमाइंडर भेज सकते हैं।

पोर्टल पर शिकायत की स्थिति की जांच करने की प्रक्रिया क्या है?

पोर्टल पर किसी शिकायत की स्थिति की जांच करने के लिए पोर्टल पर “शिकायत स्थिति की जांच करें” विकल्प पर क्लिक करें और फॉर्म में अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी के साथ शिकायत संख्या दर्ज करें और सबमिट करें। आपकी शिकायत की स्थिति आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगी।


Leave a Comment