उत्तराखंड पशु सखी योजना 2023 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन |Pashu Sakhi Yojana

उत्तराखंड पशु सखी योजना क्या है? | Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana Kya Hai in Hindi | उत्तराखंड पशु सखी योजना का उद्देश्य | Objective of Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana | उत्तराखंड पशु सखी योजना के लाभ | Benefits of Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana in Hindi | उत्तराखंड पशु सखी योजना 2023 के लिए आवेदन कैसे करें? | How To Apply Online For Uttrakhand Pashu Sakhi Yojana 2023 

Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana: उत्तराखंड प्रदेश सरकार के द्वारा राज्य की महिलाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं ताकि महिलाओं को सशक्त बनाने की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाया जा सके इसी क्रम मे उत्तराखंड सरकार द्वारा Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana को शुरू किया गया है इस योजना के माध्यम से पशुओं की देखभाल करने के लिए राज्य में पशु सखी प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। इसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को पशुओं की देखभाल करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके अलावा राज्य की महिलाओं को इस योजना से जोड़ कर आत्मनिर्भर बनाया जा सकेगा। अगर आप उत्तराखंड पशु सखी योजना से जुड़ी अधिक जानकारी लेना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना होगा

घसियारी कल्याण योजना उत्तराखंड 2023

Table of Contents

उत्तराखंड पशु सखी योजना क्या है? 

इस योजना की शुरुवात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा की गई है इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार करने हेतु और पशुपालकों की आय में वृद्धि करने के लिए राज्य में महिलाओं को पशु सखी के तौर पर नियुक्त किया जाएगा पशु सखी योजना के अंतर्गत जुड़ने वाली महिलाएं राज्य के पशुपालकों को सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराएगी और संबंधित गांव में गाय, भैंस, बैल, मुर्गी, बकरी आदि जानवरों के नियमित चिकित्सा के प्रति सुरक्षा देने के लिए देखभाल करेगी। Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह की पात्र महिलाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। जिससे कि अब राज्य के पशुपालकों को अपने पशुओं का ध्यान रखने में कोई भी असुविधा नहीं होगी और वह आसानी से अपने पशुओं का ध्यान रख सकेंगे। पशु सखी महिला को इस कार्य के बदले में निर्धारित वेतन भी दिया जाएगा। 

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना

उत्तराखंड पशु सखी योजना की संक्षिप्त जानकारी

योजना का नाम  Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana
शुरू की गई  उत्तराखंड सरकार द्वारा
विभाग  पशुपालन विभाग
लाभार्थी  राज्य की महिला एवं पशुपालक
उद्देश्य  उद्देश्य  ग्रामीण क्षेत्र में  पशुओं की देखभाल करना और मृत्यु दर कम करना
राज्य  उत्तराखंड  
केटेगरी Uttarakhand Govt Scheme
साल  2023
आवेदन प्रक्रिया  ऑनलाइन/ऑफलाइन  
अधिकारिक वेबसाइट  जल्द लॉन्च होगी  

उत्तराखंड पशु सखी योजना का उद्देश्य | Objective of Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana

उत्तराखंड सरकार द्वारा पशु सखी योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य  ग्रामीण क्षेत्र में  पशुओं की देखभाल करना और मृत्यु दर कम करना  है। साथ ही राज्य की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु रोजगार प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से राज्य की महिलाएं आत्मनिर्भर एवं सशक्त होकर पशु सखी का कार्य कर सकेगी इससे उनकी आमदनी में भी वृद्धि होगी Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana के माध्यम से सरकार द्वारा महिलाओं को फ्री ट्रेनिंग का लाभ भी दिया जाएगा। जिसके बाद उन्हें हर महीने वेतन राशि प्रदान कर रोजगार से जोड़ा जाएगा।   

उत्तराखंड ₹1 पानी कनेक्शन योजना

Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana
Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana

उत्तराखंड पशु सखी योजना के लाभ | Benefits of Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana in Hindi

उत्तराखंड सरकार के द्वारा राज्य में पशुपालन को बढ़ावा देने एवं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उत्तराखंड पशु सखी योजना की शुरुआत की है जिसके तहत लाभार्थी महिलाओं को निम्नलिखित लाभ होगें

  • इस योजना के माध्यम से राज्य की महिलाओं को प्रशिक्षित के तौर पर नियुक्त किया जाएगा। जिससे वे आत्मनिर्भर हो सकेगी।
  • राज्य की जो भी महिला पशु सखी के रूप में कार्य करना चाहती है उन्हें सरकार द्वारा पशु सखी प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • पशु सखी प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा हो जाने पर जब महिला पशु सखी का कार्य करने लगेगी तब उन्हें सरकार द्वारा निश्चित वेतन राशि भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत अब राज्य के पशुपालकों के पशुओं की बीमारियों की पहचान करके उन्हें प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराया जा सकेगा।
  • पशुपालकों को पशु सखी द्वारा चारा उत्पादन के लिए प्रोत्साहित किया जा सकेगा। जिसकी वजह से पशुपालन के दूध उत्पादन में बढ़ोतरी होगी।
  • उत्तराखंड के पशुपालक भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगे।
  • जो महिलाएं इस योजना से जुड़ना चाहती है तो वह ऑनलाइन या ऑफलाइन के माध्यम से आवेदन कर सकती है।
  • इस योजना का संचालन पूरे राज्य में किया जाएगा ताकि राज्य की महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जा सके। 

उत्तराखंड पशु सखी योजना के अंतर्गत सखी के कार्य

  • राज्य के पशुपालकों को पशु सखी द्वारा उत्तराखंड सरकार की पशुपालन विभाग की सरकारी योजना की जानकारी प्रदान की जाएगी।
  • पशु सखी राज्य के पशुपालक के पास कितना पशुधन है इसका रिकॉर्ड समय-समय पर पशुपालन विभाग मैं अपडेट करेगी और पशु चिकित्सकों को भी जानकारी देगी।
  • पशुओं को छोटी मोटी बीमारी लगने पर पशु चिकित्सक की जरूरत नहीं होती है इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड सरकार द्वारा पशु सखी को फर्स्ट एड किट प्रदान की जाएगी। ताकि वह पशुओं को प्राथमिक इलाज कर सके।
  • Pashu Sakhi द्वारा पशुपालकों को दूध उत्पादन में बढ़ोतरी करने के सुझाव दिए जाएंगे। ताकि पशुपालकों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके। 
  • उत्तराखंड  पशु सखी द्वारा जब प्रशिक्षण पूर्ण कर लिया जाएगा उसके बाद प्रदेश के पशुपालन विभाग और प्रदेश के पशुपालकों के बीच रहकर एक कड़ी बनना होगा। यानी कि पशुपालकों और पशुपालन विभाग के बीच पशु सखी एक रास्ता बनेगी।

 उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

उत्तराखंड पशु सखी योजना 2023 की चयन प्रक्रिया

  • सबसे पहले उत्तराखंड राज्य के सभी ग्रामीण क्षेत्र की उप समिति की सहायता से ग्राम संगठन द्वारा आसपास की महिलाओं को पशु सखी योजना के बारे में जानकारी दी जाएगी।
  • उसके बाद पशु सखी की पहचान करने के लिए ग्राम उप समिति द्वारा वीओ स्तर पर अध्यक्ष और सचिव के द्वारा बैठक का आयोजन किया जाएगा। जिस का संचालन वीओ के अध्यक्ष और सचिव द्वारा किया जाएगा।
  • स्थानीय पशु चिकित्सा सहायक, शल्य चिकित्सा (वीएएस) विस्तार अधिकारी अथवा पशु चिकित्सा प्रतिनिधि को बैठक में बुलाया जाएगा।
  • इन अधिकारी के द्वारा लिखित परीक्षा व इंटरव्यू के आधार पर क्षेत्र में पशु पक्षियों का चयन किया जाएगा।
  • पशु सखियों की चयन प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात चयनित पशु सखियों का सारा डाटा एमआईएस डेटाबेस में अपलोड करने के लिए भेजा जाएगा।

Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana के लिए पात्रता

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर के लाभ प्राप्त करने वाली महिला का उत्तराखंड राज्य का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • पशु सखी के लिए केवल महिलाएं पात्र होगी।
  • आवेदनकर्ता की आयु 20 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • पशु सखी कम से कम आठवीं पास होनी चाहिए।
  • आवेदक महिला के पास पशुपालन का ज्ञान होना अनिवार्य है।
  • महिला को स्वयं सहायता समूह का सदस्य होना चाहिए।
  • आवेदक महिला का बैंक खाता होना अनिवार्य है।
  • पशु सखी बनने के लिए लाभार्थी को मवेशी अथवा भेड़ बकरी या सुअर इसके अतिरिक्त कुक्कुट पक्षियों को पालने का अनुभव होना चाहिए।
  • केवल वहीं महिलाएं इस योजना के लाभ प्राप्त कर सकेंगी, जो पशु पालन करने वाले लोगों के बारे में जानती है।
  • ऐसी महिलाए जो चुगली करने वाले पशुओं के तापमान का अंदाजा लगा सके वह Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं कर सकती है।

पशु सखी योजना 2023 के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज 

उत्तराखंड पशु सखी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के दौरान महिलाओं से निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत होगी यदि आपके पास नीचे बताए गए सभी दस्तावेज उपलब्ध नहीं है तो आप इस योजना में आवेदन नहीं कर सकेंगे

  • आवेदक महिला का आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • शैक्षिक योग्यता प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • जमीन संबंधित सभी दस्तावेज

Uttarakhand Pashu Sakhi Yojana के तहत आवेदन कैसे करें?

उत्तराखंड सरकार द्वारा शुरू की गई पशु सखी योजना के तहत पशु सखी प्रशिक्षण कार्यक्रम को प्राप्त करने के लिए राज्य की सभी महिलाओं को थोड़ा इंतजार करना होगा। वर्तमान में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा यह योजना लांच की गई है। हालांकि, योजना के तहत आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट अभी तक लांच नहीं की गई है। जब उत्तराखंड सरकार आधिकारिक वेबसाइट को लांच करेगी, हम आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की साथ-साथ पशु सखी योजना आवेदन फॉर्म कहां से प्राप्त करें इसके बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। इससे आप भी इस योजना के तहत आवेदन करके लाभान्वित हो सकेंगे।

उत्तराखंड पशु सखी योजना से संबंधित प्रश्न-उत्तर (FAQs)

उत्तराखंड पशु सखी योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गई है?

उत्तराखंड राज्य के माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा वित्तीय वर्ष 2023-24 के बजट के दौरान पशु सखी योजना 2023 का शुभारंभ किया गया है।

उत्तराखंड पशु सखी योजना क्या है?

राज्य में पशुपालक की आमदनी को बढ़ाने और राज्य की महिलाओं को रोजगार से जोड़ने हेतु उत्तराखंड सरकार द्वारा पशु सखी योजना की शुरुआत की गई है।

उत्तराखंड पशु सखी योजना के तहत पशुपालकों को क्या क्या लाभ मिलेंगे?

सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से पशु पक्षियों की नियुक्ति की जाएगी जो सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी से पशुपालकों को अवगत कराएगी और इसके अलावा पशु सखी पशुओं के लिए प्राथमिक उपचार की सुविधा भी उपलब्ध कराएगी।

क्या पशु सखी योजना का लाभ सभी महिलाओं को मिलेगा?

जी नहीं, उत्तराखंड पशु सखी योजना के तहत केवल स्वयं सहायता समूह के सदस्य महिलाओं को लाभ मिलेगा जिसके लिए उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

उत्तराखंड पशु सखी योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

उत्तराखंड पशु सखी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको इंतजार करना होगा क्योंकि प्रदेश सरकार के द्वारा इस योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है अभी पूरे राज्य में लागू नहीं किया गया है।

Leave a Comment