Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana |छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना |ऑनलाइन आवेदन, लाभ

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana: छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा 20 जुलाई 2020 को शुरू किया गया है। इस योजना का उद्देश्य किसानों और पशुपालकों को लाभ पहुंचाना है। योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार द्वारा गाय पालने वाले पशुपालक किसानों से गाय का गोबर खरीदा जाएगा। इस योजना के तहत पशुपालकों से खरीदे गए गोबर का उपयोग सरकार वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए करेगी। छत्तीसगढ़ सरकार इस योजना के माध्यम से गायों के लिए भी कार्य कर रही है। इस आर्टिकल में, हम आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, दस्तावेज़, पात्रता आदि प्रदान करने जा रहे हैं। पूरी जानकारी लेने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढे ।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना 

Table of Contents

CG Godhan Nyay Yojana 2023

21 जुलाई को, छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गोबर खरीदने की शुरुआत की जाएगी, जो इस योजना के माध्यम से होगी। यह योजना सीधे छत्तीसगढ़ राज्य के पशुपालकों को लाभ प्रदान करेगी। इच्छुक लाभार्थियों को इस CG Godhan Nyay Yojana के तहत आवेदन करना होगा। आवेदन करने से पहले, आपको योजना की पात्रता और दिशा-निर्देशों को पढ़ना होगा। योजना को दो चरणों में चलाया जाएगा, पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को शामिल किया जाएगा, और उसके बाद दूसरे चरण में 2800 गोशाला निर्माण के बाद भी गोबर खरीदा जाएगा। गाय का गोबर कई तरह के कामों में उपयोगी होता है, जिससे अच्छा ईंधन उत्पन्न होता है। इस योजना के अनुसार, छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गाय और गोबर को 2 रुपये प्रति किलो की दर पर खरीदा जाएगा।

Join us On Telegram

Pm Yojana Telgram Link
Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana
Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की संक्षिप्त जानकारी

योजना का नामCG Godhan Nyay Yojana
इनके द्वारा  शुरू की गयीमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक20 जुलाई 2020
लाभार्थीगाय पालने वाले पशुपालक
CategoryCG Govt Scheme
उद्देश्यपशुपालको की आय में वृद्धि करना

 छत्तीसगढ़ पौनी पसारी योजना रजिस्ट्रेशन

CG Godhan Nyay Yojana का उद्देश्य

पशुपालकों की आमदनी कम होने के कारण वे अपने पशुओं को पूरे चारे से नहीं पोषण कर पाते हैं और कुछ लोग अक्सर पशुओं के दूध को निकालकर खुले में छोड़ देते हैं, जिससे गांवों और शहरों में गोबर सड़कों पर ही पड़ा रह जाता है, जिससे गंदगी भी फैलती है। इसी समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की शुरुआत की है, जिसके माध्यम से सरकार गाय पालकों से गाय का गोबर खरीदेगी। इससे पशुपालकों की आय बढ़ेगी और गाय का गोबर भी बेकार नहीं जाएगा। इस योजना के माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि होने से पशुओं को उनके पालन-पोषण में ही रखा जाएगा, जिससे पशुओं को इधर-उधर चरने की भी ज़रूरत नहीं होगी।

छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना के मुख्य आधार

राज्य सरकार ने पिछले डेढ़ वर्षों से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए कई योजनाएं जैसे नरवा, गुरुवा आदि शुरू की हैं। इसके साथ ही, पशुओं के लिए गौशालाओं का निर्माण भी सरकार ने किया है। अब तक राज्य में 2200 गांवों में गौशालाएं बनाई गई हैं और आने वाले समय में 5000 और गांवों में गौशालाओं का निर्माण होगा। छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना राज्य की अर्थव्यवस्था और ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए बहुत लाभकारी साबित होगी। इस योजना के माध्यम से रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। इस योजना के लागू होने के बाद, पशुधन मालिक अपने पशुओं को उचित चारा पानी प्रदान कर सकेंगे और कॉउ डंग को बेच सकेंगे।

मुख्यमंत्री आदिवासी परब सम्मान निधि योजना

छत्तीसगढ़ देश का पहला कॉउ डंग खरीदने वाला राज्य बनेगा। सूराजी गांव योजना के माध्यम से गौशालाओं का निर्माण होगा और इन गौशालाओं के माध्यम से गोधन न्याय योजना को लागू किया जाए महिला स्वयं सहायता समूह इन केंद्रों पर वर्मिनकंपोस्ट तैयार करने सहित विभिन्न अन्य योजनाएं संचालित करेंगे। सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना को चरणबद्ध तरीके से गौशालाओं का निर्माण करके विस्तृत किया जाएगा। लगभग 11,630 ग्राम पंचायत और 2000 गांवों में गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा।

Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh के लाभ

  • छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालकों और किसानों को योजना से लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत पशुपालक किसानों से उनके दूधीय पशु के गोबर की खरीदारी की जाएगी।
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालकों से खरीदे जाने वाला गाय का गोबर वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में उपयोग किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों और पशुपालन करने वालों की आय में वृद्धि होगी।
  • राज्य में किसानों और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

CG Godhan Nyay Yojana के महत्वपुरण दस्तावेज़ और पात्रता

योजना के लिए आवेदक को निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

  1. छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवास प्रमाणपत्र।
  2. आधार कार्ड।
  3. मोबाइल नंबर।
  4. पशुओं से संबंधित जानकारी।
  5. पासपोर्ट साइज़ फोटो।

योजना के तहत, केवल छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पशुपालकों को ही योजना का लाभ मिलेगा। यह योजना बड़े जमींदारों और व्यापारियों को उनकी समृद्धि के आधार पर नहीं दी जाएगी।

गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य बिन्दु

  • इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में भविष्य में चलाया जायेगा।
  • Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh को दो चरणों में चलाया जाएगा।
    • पहले चरण में, राज्य के 2240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा।
    • फिर कुछ ही दिनों में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाएगा।
  • सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिये 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जायेगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत की थी ।

CG Godhan Nyay Yojana में आवेदन कैसे करे ?

  1. सबसे पहले, गूगल प्ले स्टोर को खोलें।
  2. गूगल प्ले स्टोर में “छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना” लिखें और खोजें।
  1. सर्च के बटन पर क्लिक करें और “छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना” ऐप्लिकेशन को खोलें।
  2. ऐप्लिकेशन को इंस्टॉल करने के लिए “Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana” विकल्प पर क्लिक करें।
  3. ऐप्लिकेशन इंस्टॉल होने के बाद, इसे खोलें।
  4. “छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना आवेदन” विकल्प पर क्लिक करें।
  5. आवेदन फॉर्म खुल जाएगा। सभी पूछी गई जानकारी को भरें।
  6. सभी जानकारी भरने के बाद, “सबमिट” बटन पर क्लिक करें। आपका आवेदन इस तरह स्वीकृत हो जाएगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से संबंधित प्रश्न-उत्तर (FAQs)

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना क्या है?

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा पशुपालन को बढ़ावा देने और गोबर की बिक्री के माध्यम से किसानों के लिए अतिरिक्त आय उत्पन्न करने के लिए शुरू की गई एक योजना है।

गोधन न्याय योजना का उद्देश्य क्या है?

गोधन न्याय योजना का मुख्य उद्देश्य गाय के गोबर को निश्चित मूल्य पर खरीद कर उसका जैविक खाद उत्पादन में उपयोग कर किसानों और ग्रामीण समुदायों की आर्थिक स्थिति में सुधार करना है।

योजना में भाग लेने के लिए कौन पात्र है?

छत्तीसगढ़ के स्थायी निवासी जो पशुपालन, विशेष रूप से गाय पालन में लगे हुए हैं, गोधन न्याय योजना में भाग लेने के पात्र हैं। छोटे और सीमांत किसानों, साथ ही ग्रामीण समुदायों को आवेदन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

मैं गोधन न्याय योजना आवेदन कहाँ से डाउनलोड कर सकता हूँ?

गोधन न्याय योजना एप्लीकेशन को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। “छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना” की खोज करें और इसे अपने मोबाइल डिवाइस पर डाउनलोड और इंस्टॉल करने के लिए उपयुक्त एप्लिकेशन पर क्लिक करें।

इस योजना के तहत गाय का गोबर किस कीमत पर खरीदा जाता है?

गोधन न्याय योजना के तहत गाय का गोबर पात्र किसानों और ग्रामीण समुदायों से 2 रुपये प्रति किलो ग्राम की दर से खरीदा जाता है। ।

क्या यह योजना ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में लागू है?

हां, छत्तीसगढ़ सरकार की भविष्य में गोधन न्याय योजना को गांव और शहर दोनों में लागू करने की योजना है। बड़ी संख्या में गाय आश्रयों को कवर करने और व्यापक भागीदारी उत्पन्न करने के लिए योजना का धीरे-धीरे विस्तार किया जाएगा।

Leave a Comment