प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, लाभ और विशेषताएं

Pradhanmantri Gati Shakti Yojana 2023: ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, लॉगिन, पात्रता, लाभ और स्थिति की जांच

रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए सरकार लगातार प्रयास करती है। इसके लिए सरकार द्वारा तरह-तरह की योजनाएं शुरू की जाती हैं। देश का कोई भी नागरिक बेरोजगार न रहे इसके लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समय-समय पर अलग-अलग योजनाओं की शुरुआत करते हैं। आज हम आपको ऐसी ही एक योजना की जानकारी देने जा रहे हैं जिसका नाम है प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना, जिसका मकसद देश के युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है। इस लेख के माध्यम से, हम आपको इस योजना के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे, जैसे कि प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना क्या है, इसके उद्देश्य, लाभ, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना की पूरी जानकारी के लिए आपको हमारा यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना होगा।

14 जून तक मुफ्त में आधार कार्ड ऑनलाइन अपडेट करें

Pradhanmantri Gati Shakti Yojana 2023

15 अगस्त को देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर, हमारे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया और “प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना” नामक एक नई योजना की घोषणा की। इस योजना के माध्यम से देश के युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे, इस योजना के लिए कुल 100 लाख करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है। साथ ही इस योजना के माध्यम से इन्फ़्रस्ट्रक्चर  का व्यापक विकास भी सुनिश्चित किया जायेगा। प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के तहत स्थानीय विनिर्माता विश्व स्तर पर भी प्रतिस्पर्धी बन सकेंगे। भविष्य में इस योजना के तहत नए आर्थिक क्षेत्र भी विकसित किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के माध्यम से आधुनिक अधोसंरचना के साथ-साथ इन्फ़्रस्ट्रक्चर विकास में समग्र दृष्टिकोण अपनाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा यह भी बताया गया है कि भविष्य में इस योजना का मास्टर प्लान पेश किया जाएगा। यह योजना समग्र बुनियादी ढांचे की नींव रखेगी। यह उद्योगों की गति बढ़ाने और देश की अर्थव्यवस्था को गति देने में भी कारगर साबित होगा। इसके अतिरिक्त, देश में मौजूदा परिवहन संसाधनों के बीच समन्वय की कमी है, जिसे यह योजना संबोधित करेगी।

National Apprenticeship Promotion Scheme 2023

radhanmantri Gati Shakti Yojana Overview

योजना का नामप्रधानमंत्री गति शक्ति योजना
शुरुआत की गई थीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा
साल2023
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यरोजगार के अवसर उत्पन्न करना
कुल बजट100 लाख करोड़
वर्तमान स्थितिसक्रिय
टेलीग्राम से जुड़ेंTelegram Link
Post categoryCentral Government Scheme

गति शक्ति योजना 2023 के तहत हरियाणा को मिली 900 करोड़ रुपए की मंजूरी

4 अगस्त, 2022 को हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने घोषणा की कि केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना 2023 के तहत राज्य के लिए 900 करोड़ रुपये के अनुदान को मंजूरी दी है। इस योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा करने के लिए अधिकारी एकत्रित हुए। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों के बीच कनेक्टिविटी की सुविधा के लिए पिछले साल पीएम गती शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान लॉन्च किया था। कौशल ने कहा कि यह मिशन महत्वपूर्ण सड़कों और रेल परियोजनाओं के निर्माण के माध्यम से हरियाणा के आधारभूत ढांचे को मजबूत करेगा। साथ ही बैठक के दौरान बताया गया कि इस योजना के तहत कुल 1100 करोड़ के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं, विशेष रूप से लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर और परिवहन से संबंधित। इन प्रस्तावों को जल्द ही केंद्र सरकार के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

यूपी में प्रत्येक गाटे को प्रदान किया जाएगा आलपिन नंबर

उत्तर प्रदेश सरकार ने राजस्व संबंधी विवादों को कम करने और प्रमुख बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए भूमि चिन्हित करने के लिए प्रत्येक गेट को जियो-टैग करने का निर्णय लिया है। यह जियो टैगिंग प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के जरिए की जाएगी। प्रत्येक गेट को एक अद्वितीय भूमि पार्सल पहचान संख्या (अल्पिन) दी जाएगी जो 14 अंकों का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड होगा। इस अल्पाइन नंबर के माध्यम से गेट की पूरी भौगोलिक स्थिति प्रदर्शित की जाएगी। उत्तर प्रदेश में करीब 7.5 करोड़ गेट हैं। सरकार इस योजना को लागू करने के लिए पांच साल में 324 करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह जियो टैगिंग जमीन संबंधी मामलों का बोझ कम करने में कारगर साबित होगी। साथ ही इस योजना से बुनियादी ढांचागत विकास की बड़ी परियोजनाओं के लिए जमीन चिन्हित करने में आसानी होगी।

  • इस योजना के पहले चरण में भौगोलिक सूचना प्रणाली की मदद से गांव की सीमा रेखा को भौगोलिक रूप से चिह्नित किया जाएगा।
  • प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के दूसरे चरण के तहत गांव के भीतर भूखंडों की जीआईएस का उपयोग कर मानचित्रण किया जाएगा। इसके लिए पहले पांच गांवों में सर्वे किया जाएगा।
  • इसके अलावा तकनीकी संस्था द्वारा गांव की सीमा रेखा मानचित्र पर निर्धारित की जाएगी।
  • इसके बाद जीआईएस मैपिंग के जरिए गांव की सीमा रेखा के सीमा स्तंभों की पहचान की जाएगी।
  • इसके बाद गांव के प्रत्येक गेट का अक्षांश और देशांतर निर्धारित किया जाएगा। इसके आधार पर हर गेट को एक अल्पाइन नंबर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के लिए बजट 2022 -23 में किए गए महत्वपूर्ण एलान

प्रधान मंत्री गति शक्ति योजना देश में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई थी। यह परियोजना 107 लाख करोड़ रुपये की है और इसका उद्देश्य बुनियादी ढांचे को एक नया आकार प्रदान करना है। इस योजना के तहत रेल और सड़क सहित कुल 16 मंत्रालयों के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म स्थापित किया जाएगा, ताकि सभी मंत्रालय बड़ी परियोजनाओं के लिए एक साझा आधार स्थापित कर सकें. इस योजना के माध्यम से परियोजना क्रियान्वयन में आने वाली विभिन्न विभागीय बाधाओं को दूर किया जा सकता है।

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया है कि अगले 3 साल में इस योजना के तहत 400 नई वंदे भारत ट्रेनें बनाई जाएंगी. इसके अतिरिक्त, 100 पीएम पावर कार्गो टर्मिनल भी बनाया जाएगा।
  • पूरे देश में माल और रसद की तेज आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए 2022-23 के लिए पीएम पावर पैक योजना तैयार की जाएगी।
  • इस योजना के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग नेटवर्क का 25,000 किलोमीटर तक विस्तार किया जाएगा, और 2022-23 में 8 नई रेलवे लाइनों को शुरू करने का आदेश दिया गया है।
  • इस योजना के तहत छोटे किसानों और छोटे व्यवसायों के लिए रसद सुविधाओं में सुधार किया जाएगा और देश की आपूर्ति श्रृंखला नेटवर्क को और अधिक कुशलता से संचालित किया जाएगा।
  • सरकार देश के व्यवसायों के लिए रसद को आसान बनाने के लिए वन परियोजना और वन व्यवस्था पर भी काम करेगी।

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना का कार्यान्वयन

  • इंफ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी योजना के लिए प्रधान मंत्री की गति बुनियादी ढांचे और कनेक्टिविटी से संबंधित विभिन्न मंत्रालयों को एक साथ लाएगी।
  • इस योजना के तहत, मंत्रालयों को भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) आधारित योजना, मार्ग योजना, निगरानी और उपग्रह इमेजरी जैसी तकनीक प्रदान की जाएगी।
  • प्रत्येक मंत्रालय को अपना डेटा अपडेट करने के लिए एक लॉगिन आईडी प्रदान की जाएगी।
  • यह डेटा एक ही प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस प्लेटफॉर्म के जरिए हर मंत्रालय दूसरे के काम पर नजर रख सकेगा।
  • इससे सामूहिक जिम्मेदारी में सुधार होगा।

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना 2023 का मुख्य उद्देश्य युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करना है। यह योजना देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने में भी कारगर साबित होगी। इसके अलावा, यह देश में बेरोजगारी दर को भी कम करेगा। इस योजना के माध्यम से एक समग्र बुनियादी ढांचा भी विकसित किया जाएगा, जिससे रोजगार को बढ़ावा मिलेगा। इस योजना के माध्यम से स्थानीय निर्माताओं को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाया जा सकता है, जिससे निर्यात बढ़ेगा और देश में औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा। इस योजना के माध्यम से औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए नए आर्थिक क्षेत्र भी विकसित किए जाएंगे।

Pradhanmantri Gati Shakti Yojana के अंतर्गत किए जाने वाले कार्य

  • देश में सन 2024-25 तक 11 इंडस्ट्रियल कॉरिडोर नेशनल इंडस्ट्रियल कॉरिडोर डेवलपमेंट प्रोग्राम के अंतर्गत बनाए जाने की योजना।
  • डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के निर्माण में तेजी लाने की योजना।
  • रेलवे की कार्गो हैंडलिंग क्षमता को मौजूदा 1200 मीट्रिक टन से बढ़ाकर 1600 मीट्रिक टन करने की योजना है।
  • देश में NHAI द्वारा संचालित राजमार्गों का एक लाख किलोमीटर का नेटवर्क है। 2024-25 तक इस नेटवर्क को बढ़ाकर 2 लाख किलोमीटर करने की योजना है।
  • उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में 20,000 करोड़ रुपए के निवेश से दो रक्षा गलियारे बनाए जाएंगे। इससे देश में 1.7 लाख करोड़ रुपए के रक्षा उपकरणों का उत्पादन हो सकेगा, जिसका बड़ा हिस्सा निर्यात भी किया जा सकेगा।
  • गंगा नदी में 29 मीट्रिक टन और अन्य नदियों में 95 मीट्रिक टन की क्षमता वाली ड्रेजिंग परियोजना शुरू करने की योजना है।
  • दूरसंचार विभाग ने 2024-25 तक 35 लाख किलोमीटर का ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाने की योजना बनाई है।

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना शुरू करने की घोषणा की है।
  • यह योजना युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करेगी।
  • इस योजना के लिए कुल बजट 100 लाख करोड़ रुपए निर्धारित किया गया है।
  • यह योजना बुनियादी ढांचे के सर्वांगीण विकास को भी सुनिश्चित करेगी।
  • यह लोकल मैन्युफैक्चरिंग को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने में भी कारगर साबित होगा।
  • 2023 में प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के माध्यम से नए आर्थिक क्षेत्र भी विकसित किए जाएंगे।
  • यह योजना आधुनिक बुनियादी ढांचे के साथ बुनियादी ढांचे के विकास के लिए एक समग्र दृष्टिकोण अपनाएगी।
  • आने वाले समय में इस योजना का मास्टर प्लान भी पेश किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से एक समग्र बुनियादी ढांचे की नींव रखी जाएगी।
  • उद्योगों की गति तेज करने में भी यह योजना कारगर साबित होगी।
  • इस योजना से देश की अर्थव्यवस्था को भी बढ़ावा मिलेगा।
  • वर्तमान में देश के विद्यमान परिवहन संसाधनों में भी समन्वय का अभाव है। यह योजना इस बाधा को भी खत्म कर देगी।

Pradhanmantri Gati Shakti Yojana 2023 की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदन भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया।

सरकार ने अभी के लिए केवल प्रधानमंत्री गति विद्युत योजना की घोषणा की है। इस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया जल्द ही सक्रिय की जाएगी। जैसे ही सरकार इस योजना के तहत आवेदन करने से संबंधित कोई जानकारी प्रदान करेगी, हम आपको इस लेख के माध्यम से अवश्य सूचित करेंगे। इसलिए, हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप हमारे लेख से जुड़े रहें।





Leave a Comment